हमारे बारे में उद्देश्य

उद्देश्य

१- वैदिक धर्म , आर्य संस्कृति एवं आर्य सभ्यता की रक्षा , प्रचार और प्रसार करना।

२- बालक –बालिकाओं को शिविरों के माध्यम से ब्रह्मचर्य ,शारीरिक और बौद्धिक रूप से
विकसित करना ।

३ - योग के माध्यम से शरीर व मन स्वस्थ बनाना।

४ - किसी भी क्षेत्र में भूचाल , बाढ या कोई प्राकृतिक विपदा आने पर तन –मन – धन से
पीडितों को सेवा भाव से सुख पहुंचाना ।

५ - भारत के संविधान के अनुरूप कानून व्यवस्था का पालन करना और अपने कर्तव्यों व
अधिकारों के प्रति सजग बनाना ।

६ - महर्षि दयानन्द सरस्वती द्वारा स्थापित आर्य समाज के नियमों , उपनियमों आदि का
यथायोग्य पालन करना और कराना ।

७ - यज्ञ का प्रचार – प्रसार एवं पेड पोधे लगवाकर कर जल वायु में फैले प्रदूषण को समाप्त करना।

८ - महर्षि दयानन्द सरस्वती द्वारा रचित सत्यार्थ प्रकाश के छठे समुल्लास पर
आधारित राज्य व्यवस्था को लागू कराना ।

९- देश में व्याप्त अज्ञान, अन्याय और अभाव को मिटाने का प्रयास करना ।

 
Youtube Video